Kalpana Shrivastav
. India . joined October, 2022

Kalpana Shrivastav

About

मैं कल्पना श्रीवास्तव देवास मे रहती हूं मैने समाज शास्त्र से MA किया और Msw तक शिक्षा प्राप्त कि इसके बाद सन 2004 से समाज सेवा का कार्य किया इस मे सुजलॉन फॉउंडेशम के साथ ग्रामीण विकास ओर महिला और बाल विकास का कार्य किया इसके बाद मेरा जॉब बैंक ऑफ इंडिया के Rseti मे लग गया जिस मे  6 सालों तक काम करते हुए लगा कि कब नोकरी करुँगी मुछे नॉकरी देने वाला बनना है तब मैंने अपना एक ngo बनाया और  महिलाओं के स ट्रेंनिंग देकर उन्हे रोजगार से जोड़ने का प्रयास किया गया देवास जिले की 1500 महिलाओं को स्वरोजगार स्थापना की ट्रेंनिंग दिलाई गई आज हमारी संस्था द्वारा एक मसाला यूनिट तैयार की है जिस मे 10 महिलाओं को रोजगार दिया है ये मसाले mp के 25 जेल मे खादी ग्रामोडायोग के माद्यम से सप्लाई किये जाते है इसके अलावा santha के पशु आहर का पलांट भी अभी डाला है जो समूह की महिलाओं द के द्वारा संचालित हैसन्स हममरा उद्देश्य समाज मे बेरोजगारी को कामकरना

View Details

    • City :
    • Dewas

    • State :
    • Madhya Pradesh

    • Category :
    • Entrepreneur

    • Email ID:
    • kalpanashrivastava17@yahoo.com

    • Profession:
    • Director

    • Education
    • MSW

Work Images View More Work Images

video

Project Details

 हमारा परिचय-:

 
फाउंडेशन देवास मध्य प्रदेश सोसायटी रजिस्ट्रेशन अधिनियम 1973 (का क्रमांक 44 के) अधीन 19 जनवरी 2011 को पंजीयन की गई.
 
संस्था के उद्देश्य:
 
1. विभिन्न वर्गों के लिए आवश्यकता अनुसार समय-समय पर विभिन्न विषयों जैसे शिक्षा स्वास्थ्य स्वच्छता पर्यावरण नशा मुक्ति ऊर्जा संरक्षण वैकल्पिक ऊर्जा पशु स्वास्थ्य पशु नस्त सुधार मृदा एवं जल संरक्षण जल एवं जल स्रोतों का संरक्षण आदि पर जागरूकता एवं प्रशिक्षण हेतु कार्यक्रम संचालित करना,
 
2-समिति के माध्यम से स्कूलों कॉलेजों का तथा अनौपचारिक शिक्षा केंद्रों जैसे साक्षरता केंद्र संस्कार शिक्षा केंद्र आदि का संचालन करना. 3-शिक्षा से वंचित अथवा शाला त्यागी बच्चों वयस्कों को पुनः औपचारिक अथवा अनौपचारिक शिक्षा से जोड़ने के लिए कार्य
 
करना विभिन्न बीमारियों के प्राथमिक इलाज एवं रोकथाम हेतु आवश्यकता अनुसार समय-समय पर स्वास्थ्य शिविरों तथा पशु स्वास्थ्य शिविरों का आयोजन करना
 
5- प्रजनन एवं शिशु स्वास्थ्य कार्यक्रम संचालित करना
 
6- कुपोषित बच्चों के पुनर्वास हेतु पोषण पुनर्वास केंद्र संचालित करना 2. पंचायती राज प्रतिनिधियों स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं शिक्षकों पालक शिक्षक संघ स्वयंसेवी संगठनों आदि की क्षमता वृद्धि हेतु समय-समय पर आवश्यकता अनुसार प्रशिक्षण आयोजित करना
 
- विभिन्न शासकीय योजनाओं कार्यक्रमों कृषि जस पर्यावरण ऊर्जा संरक्षण आदि के क्षेत्र में नई तकनीकों एवं जन समुदाय की आवश्यकता के अनुसार जानकारी देने हेतु सूचना केंद्रों का संचालन करना कृषि ऊर्जा जल एवं पर्यावरण संरक्षण हेतु
 
ऐसी तकनीकों का विकास एवं प्रचार प्रसार करना जिससे कम लागत में उच्च उत्पादन परिणाम प्राप्त किए जा सके
 
७. विभिन्न बीमारियों जैसे मलेरिया पोलियो स्वाइन फ्लू वेक्टर जनित बीमारियों आदि की रोकथाम हेतु जागरूकता एवं10- विभिन्न फसलों की उच्च तकनीक फसल चक्र फसल पद्धति व फसल प्रणाली में बदलाव के लिए वैकल्पिक फसलों की व्यवस्था करना एवं नवीन उपकरणों से अवगत कराना
 
11-पौध संरक्षण तकनीकों की जानकारी एवं विकास जैव विविधता विकास व अन्य कृषि आधारित उद्यमो के विकास के लिए संबंधित विभागों और योजनाओं से समन्वय स्थापित करना
 
12- बीज उत्पादन एवं उसके विपणन हेतु मार्गदर्शन एवं प्रशिक्षण प्रदान करना औषधीय पौधों की खेती को प्रोत्साहित करना 13- औषधीय पौधों की खेती को प्रोत्साहित करना
 
14- ग्रामीण स्वच्छता कार्यक्रमों को राज्य एवं केंद्र की सहायता से संचालित करना 15- सामाजिक रुप से कमजोर वर्गों वृद्धों निराश्रित विधवा परित्यक्ता एवं बालको व महिलाओं के कल्याण एवं उत्थान के लिए कार्यक्रम चलाना तथा उनके कल्याण एवं पुनर्वास के लिए आश्रमों व्यवसायिक प्रशिक्षण केंद्रों का संचालन करना 16- निशक्त जनों के कल्याण एवं पुनर्वास हेतु आवासीय विद्यालय एवं व्यवसायिक प्रशिक्षण केंद्रों का संचालन करना 17- विभिन्न विषयों पर आवश्यकतानुसार एवं समय-समय पर वर्कशॉप सेमिनार कॉन्फ्रेंस साहित्यिक व सांस्कृतिक कार्यक्रमों प्रतियोगिताओं खेलकूद प्रतियोगिताओं इत्यादि का आयोजन प्रबंधन करना
 
18- बालवाड़ी आंगनवाड़ी झूला घर व्यवसाय प्रशिक्षण केंद्र जैसे सिलाई सेंटर ब्यूटी पार्लर आदि का संचालन करना 19- किशोर किशोरियों युवाओं एवं महिलाओं के परामर्श के लिए संचालित करना 20- आपदा प्रबंधन के मुद्दों पर जन समुदाय को प्रशिक्षण प्रदान करना 21-सामाजिक विकास एवं जन कल्याण हेतु कार्यक्रमों का संचालन करना

Achievements

 एक पहल.. महिला सशक्तिकरण की ओर......

 
यशस्वी फाउंडेशन विगत 4 वर्षों से शिक्षा, स्वरोजगार को बढ़ावा देने हेतु, व्यवसाय प्रशिक्षण स्वास्थ्य, एवं पर्यावरण के क्षेत्र में अनवरत कार्य करती चली आ रही है इसी क्रम में महिलाओं को सशक्तिकरण और उन्हें आर्थिक प्रयोजन से जोड़ने हेतु मसाला उद्योग में प्रविष्ट किया है जिसका उद्देश्य ग्रामीण अंचल की महिलाओं कार्य देना इसके साथ ही पारंपरिक मसालो की संस्कृति को बढ़ावा देना है हाथ से कूटना, पीसना एवं इसके साथ मशीनों का उपयोग कर मसालो का निर्माण करना. हमारे उत्पाद
 
> मिर्ची
 
धनिया
 
> हल्दी
 
चिली फ्लेक्स

Complete Business Details

Kalpana Shrivastava 27-Oct: समाज सेवा मैने अपने पिता से सीखा समाज के संवेदनशील मुद्दे पर खुलकर बात करना उनसे सीखा में msw की छात्रा रही ही तो हमेशा समाज के लिए कुछ करना है ये दिमाग  में रहता था अपने लिए तो सभी जीते है मगर जो और के लिए कुछ करता है वही इंसान है Msw के दौरान फील्ड वर्क मे जब गांव का दौरा किया तो पाया कि गाँव की हालात बहुत खराब है और विशेषकर महिलाओं की एक आदिवासी परिवार के साथ मुलाकात हुईं जो कि बेहद गरीब था वहाँ 12 से 15 साल की 3 लडकिया थी जो मजदूरी करके अपने माता पिता का हाथ बटाती थी घर चलाने के लिये वही एक गंदा कपड़ा टाँग रखा था जो कि मासिक धर्म के दौरान उपयोग किया हुआ था तब मैंने उनसे पूछा येयहाँ  नही रखना था धूप में रखे तब उन में से एक लड़की ने कहा मैडम हम लोग बहुत गरीब है हर महीने नया कपड़ा मासिक धर्म मे नही ले सकते इसलिए एक ही कपडे मे राख को रखकर तीनो बहने बारी बारी से उपयोग कर लेती है ये सुनकर मे स्तब्ध रह गई और सोचा समाज मे ऐसे लोगो के लिए कुछ करना है तब से आज तक 19 साल हो गए समाज के लिये कुछ आंच करने का प्रयास कर रही हु

मैने समाजसेवा का काम 2005 से शुरू किया जिसमें मैने परिवार परामश मे काउंसिल की जिसमे स्वधार गढ़ घरेलू हिंसा से पीड़ित मिहिलाये व लडकिया आती थी उनके काउंसिल करके न्याय दिलाने का काम किया
 मैने समाजसेवा का काम 2005 से शुरू किया जिसमें मैने परिवार परामश मे काउंसिल की जिसमे स्वधार गढ़ घरेलू हिंसा से पीड़ित मिहिलाये व लडकिया आती थी उनके काउंसिल करके न्याय दिलाने का काम किया 2008  से2009 तक मप्र एडस बोर्ड़ के साथ मिलकर फीमेल सेक्सवर्कर को समाज के साथ जोड़ने का प्रयास किया उन्हें स्वरोजगार का प्रशिक्षण प्रदान कर व उन्हें स्वरोजगार करने के लिये किराना ओर पूजा सामग्री की दुकान लगवाकर दी है करीब 5 महिलाओं कोबैंक से मुद्रा योजना मे लोन दिलाकर स्वरोजगार शुरू करवाया 2009 से 2015 तक सुजलॉन विंड एनजी के csr के साथ जुड़कर देवास शहर के 5 गाँव को गोद लिया तथा वहाँ की समस्या को जानकर गांव के विकास के लिए काम किया इस के अंतर्गत गांव मे जो महिलाएं कभी स्कूल नही गई थी उन्हें तारा अक्षर प्रोग्राम के द्वारा लैपटॉप से पढ़ाया गया देवास के 5 गांव मे करीब 990 महिलाओं को 6 महीने लैपटॉप से पढकर साइन करना किताब पढ़ना लिखना ओर लैपटॉप चलना सिखाया आज वो सभी महिलाएं बहुत खुश है और सारे काम करती है पेपर पड़ती है इस के साथ ही गांव की प्रग्नेंट महिला ओ का फ्री anc pnc चैक उप करवा कर दवाइयों दिलवायी किशोर बालिकाओं तथा महिलाओं जो मासिकधर्म के दौरान कॉपडा उपयोग करती थि उन्हें पर्सनल हाइजिन का महत्व बताकर फ्री सैनेट्री पैड दिए गए आज सारे गांव की महिला ये व लड़कियों सभी पैड का उपयोग करती है इसके साथ ही 5 गांव मे200 स्वसहायता समूह का निर्माण करवाया गया और स्वसहायता समूह के साथ मिलकर मिहिलाओ को एक लैदर यूनिट डलवाकर दी जिससे वो महिलाओं अपना बनाया प्रोडेक्ट भेजकर अच्छी आमदनी कर रही है 5 गांव मे करीब 200 shg का निर्माण किया गया है जो कि स्कूल मे खाना बनाना व ग्राम पंचायत में bc म काम और भी ग्रामीण विकास से जुडे काम समूह के माद्यम से किये जा रहे है इसके साथ है एडुकेशन समाजिक मुद्दे महिला व बल विकास ससुअल हर्षमेंट  जैसे सवेदनशील मुद्दे पर काम किया2015 से बैंक ऑफ इंडिया के csr प्रोग्राम में ग्रमीण गरीब परिवार के लोगो को फ्री स्किल डेवलपमेंट ट्रेंनिंग देकर 800 बेरोजगार युवा और महिलाओं को अलग अलग तरह की सरकारी योजनाओं के माध्यम से रोजगार स्थापित करवाने मैं मदद की 2021 मे  मैने सोचा जैल एक ऐसी जगह है जहाँ महिला बन्दी की तरफ कोई ध्यान नही देता जब वो जेल से रिहा होकर जाती है तो कोई सपोर्ट नही मिलता ओर पैसे की कमी के कारण वो गलत रास्ते चली जति है तब उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से देवास जिला जेल मे 25 महिला बेंदी को पद
[7:28 PM, 11/3/2022] Kalpana Shrivastava 27-Oct: मैने समाजसेवा का काम 2005 से शुरू किया जिसमें मैने परिवार परामश मे काउंसिल की जिसमे स्वधार गढ़ घरेलू हिंसा से पीड़ित मिहिलाये व लडकिया आती थी उनके काउंसिल करके न्याय दिलाने का काम किया 2008  से2009 तक मप्र एडस बोर्ड़ के साथ मिलकर फीमेल सेक्सवर्कर को समाज के साथ जोड़ने का प्रयास किया उन्हें स्वरोजगार का प्रशिक्षण प्रदान कर व उन्हें स्वरोजगार करने के लिये किराना ओर पूजा सामग्री की दुकान लगवाकर दी है करीब 5 महिलाओं कोबैंक से मुद्रा योजना मे लोन दिलाकर स्वरोजगार शुरू करवाया 2009 से 2015 तक सुजलॉन विंड एनजी के csr के साथ जुड़कर देवास शहर के 5 गाँव को गोद लिया तथा वहाँ की समस्या को जानकर गांव के विकास के लिए काम किया इस के अंतर्गत गांव मे जो महिलाएं कभी स्कूल नही गई थी उन्हें तारा अक्षर प्रोग्राम के द्वारा लैपटॉप से पढ़ाया गया देवास के 5 गांव मे करीब 990 महिलाओं को 6 महीने लैपटॉप से पढकर साइन करना किताब पढ़ना लिखना ओर लैपटॉप चलना सिखाया आज वो सभी महिलाएं बहुत खुश है और सारे काम करती है पेपर पड़ती है इस के साथ ही गांव की प्रग्नेंट महिला ओ का फ्री anc pnc चैक उप करवा कर दवाइयों दिलवायी किशोर बालिकाओं तथा महिलाओं जो मासिकधर्म के दौरान कॉपडा उपयोग करती थि उन्हें पर्सनल हाइजिन का महत्व बताकर फ्री सैनेट्री पैड दिए गए आज सारे गांव की महिला ये व लड़कियों सभी पैड का उपयोग करती है इसके साथ ही 5 गांव मे200 स्वसहायता समूह का निर्माण करवाया गया और स्वसहायता समूह के साथ मिलकर मिहिलाओ को एक लैदर यूनिट डलवाकर दी जिससे वो महिलाओं अपना बनाया प्रोडेक्ट भेजकर अच्छी आमदनी कर रही है 5 गांव मे करीब 200 shg का निर्माण किया गया है जो कि स्कूल मे खाना बनाना व ग्राम पंचायत में bc म काम और भी ग्रामीण विकास से जुडे काम समूह के माद्यम से किये जा रहे है इसके साथ है एडुकेशन समाजिक मुद्दे महिला व बल विकास ससुअल हर्षमेंट  जैसे सवेदनशील मुद्दे पर काम किया2015 से बैंक ऑफ इंडिया के csr प्रोग्राम में ग्रमीण गरीब परिवार के लोगो को फ्री स्किल डेवलपमेंट ट्रेंनिंग देकर 800 बेरोजगार युवा और महिलाओं को अलग अलग तरह की सरकारी योजनाओं के माध्यम से रोजगार स्थापित करवाने मैं मदद की 2021 मे  मैने सोचा जैल एक ऐसी जगह है जहाँ महिला बन्दी की तरफ कोई ध्यान नही देता जब वो जेल से रिहा होकर जाती है तो कोई सपोर्ट नही मिलता ओर पैसे की कमी के कारण वो गलत रास्ते चली जति है तब उन्हें आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से देवास जिला जेल मे 25 महिला बेंदी को पापड बड़ी हाथ से बने मसाले का 10 दिन का प्रशिक्षण दिया और उन्हे वही जॉब वर्क भी दिया जिससे वो बहुत खुश है सभी ण
[7:28 PM, 11/3/2022] Kalpana Shrivastava 27-Oct: मैने समाजसेवा का काम 2005 से शुरू किया जिसमें मैने परिवार परामश मे काउंसिल की जिसमे स्वधार गढ़ घरेलू हिंसा से पीड़ित मिहिलाये व लडकिया आती थी उनके काउंसिल करके न्याय दिलाने का काम किया 2008  से2009 तक मप्र एडस बोर्ड़ के साथ मिलकर फीमेल सेक्सवर्कर को समाज के साथ जोड़ने का प्रयास किया उन्हें स्वरोजगार का प्रशिक्षण प्रदान कर व उन्हें स्वरोजगार करने के लिये किराना ओर पूजा सामग्री की दुकान लगवाकर दी है करीब 5 महिलाओं कोबैंक से मुद्रा योजना मे लोन दिलाकर स्वरोजगार शुरू करवाया 2009 से 2015 तक सुजलॉन विंड एनजी के csr के साथ जुड़कर देवास शहर के 5 गाँव को गोद लिया तथा वहाँ की समस्या को जानकर गांव के विकास के लिए काम किया इस के अंतर्गत गांव मे जो महिलाएं कभी स्कूल नही गई थी .

POST

Message Message Us